Happy Sawan 2020 Wishes & Images: सावन की शुभकामनाएं

Happy Sawan 2020 Wishes & Images

हर-हर-महादेव
हर-हर-महादेव


सावन की  शुभकामनाएं

ॐ नमः शिवाय
कर्ता करे न कर सके, शिव करे सो होय|
तीन लोक नौ खंड में,
महाकाल से बड़ा न कोय।।
सावन की हार्दिक शुभकामनाएं|

आकाल मृत्यु वो मरे जो काम करे चंडाल का,
काल भी उसका क्या बिगाड़े जो भक्त हो महाकाल का।
जय शिव शंभू।। सावन की हार्दिक शुभकामनाएं|

ॐ नमः शिवाय
शिव की महिमा अपरम्पार!
शिव करते सबका उद्धार,
उनकी कृपा आप पर सदा बनी रहें,
और भोले शंकर आपके जीवन में
खुशियाँ ही खुशियाँ भर दे।

सावन का यह हर सोमवार
जीवन में लाये खुशियां अपार
महादेव आये आपके द्वारा
शुभकामनाएं हमारी करें स्वीकार

ॐ नमो शिवाय!
शिव शंकर की जटाओं से निकली गंगा धार,
शिव शंकर के गले में शोभित है नागराज,
शिव शंकर के कमंडल में जीवन अमृत की धार,
शिव शंकर ने किया तांडव कहाये नटराज।
सावन के के इस अतिशुभ दिन पाएं शिवजी का आशीवार्द!
Happy-mahashivratri-wishes-hindi
ॐ त्र्यम्‍बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् उर्वारुकमिव बन्‍धनान् मृत्‍योर्मुक्षीय मामृतात्। ॐ नम: शिवाय ! यह सावन आपके व आपके परिवार के लिए अपार हर्षोल्लास एवं सुख – समृद्धि से परिपूर्ण हो!
जय महाकाल!!

शंकर भगवान के सिर पर चन्द्रमा टिका है हुआ है, चंद्रमा का अर्थ है – शांति, संतुलन। हमारे मस्तिष्क में शांति और संतुलन का यही स्वरूप होना चाहिए।

शंकर भगवान के गले में मुंडो की माला पड़ी हुई है। इसका मतलब है कि हर समय हमको मौत याद रहनी चाहिए और हमारा घर श्मशान में होना चाहिए। हमको याद रखना चाहिए कि हमको मरना है।

शंकर भगवान विभूतिवान थे। उनके पास कोई संपत्ति नहीं थी। अत: हमको भी बिना भौतिक संपत्ति से निस्पृह होना चाहिए।

वे साँपों को गले लगाते थे। हम भी पिछड़े हुए लोगों को, दुष्ट लोगों को गले लगाकर उन्हें ठीक कर सकते हैं, शंकर भगवान की तरह हम भी यह कर सकते है।

वही सुखी, वही निराला, वही किस्मत वाला जिसका देवों के देव महादेव हो रखवाला..!! जय महाकाल
हर-हर-महादेव
मेरे महाकाल कहते हैं कि मत सोच तेरा सपना पूरा होगा या नहीं होगा…क्योंकि जिसके कर्म अच्छे होते हैं उनकी तो मैं भी मदद करता हूँ..!! हर-हर महादेव

मिलती है तेरी भक्ति महादेव बड़े जतन के बाद पा ही लूंगा महादेव आपको शमशान में जलने के बाद..!! हर-हर महादेव

महादेव का नारा लगाकर हम दुनिया में छा गए, हमारे दुश्मन भी छुप कर बोले, वो देखो महादेव के भक्त आ गए..!! हर-हर महादेव

ना कोई जात वाली ना कोई धर्म वाले, यहां मिलेंगे सिर्फ महादेव वाले..!! हर-हर महादेव

मुंह से निकल रही थी आग, आंखें थी उनकी मस्ती में, मिल गया सुकून मेरी रूह को, जिसे बरसों से तलाशता रहा बंजारों की बस्ती में..!! हर-हर महादेव

चाहता नहीं जमाने में किसी के दिल का खास बनू बस तमन्ना यही है कि महादेव के दर का दास बनू..!! हर-हर महादेव

ना कोई हमारा ना हम किसी के हैं, बस एक महादेव ही है और हम उसी के हैं..!! हर-हर महादेव

पहनकर फकीरों का चोला अनजाने रास्ते पर जा रहा हूं, जो कोई पूछता है मेरी मंजिल में महाकाल बता रहा हूं.!! हर-हर महादेव

नहीं लगता दिल दिखावे की दुनिया में मुझको खुद में समा ले तू या तो आजा पास मेरे या फिर मुझको पास बुला ले तू..!! हर-हर महादेव
अपने जिस्म को इतना ना सँवारों, इसको तो एक दिन मिट्टी में मिल जाना है! सवारना है तो अपनी रूह को सँवारों, क्योंकि उस रूह को भी महाकाल के पास जाना है.!! हर-हर महादेव

सारा जहां है जिसकी शरण में,
नमन है उस शिवा के चरण में,
हम है उस शिवा की चरणों की धूल,
आओं मिलकर चढ़ाएं शिवा को श्रद्धा के फूल।

मान मिले सम्मान मिले,
सुख – संपत्ति का वरदान मिले,
कदम – कदम पर मिले सफलता
सदियों तक पहचान मिले।
आपको एवं आपके परिवार के सभी सदस्यों को सावन की ढेर सारी शुभकामना!

शिव की बनी रहे आप पर हमेशा छाया, पलट दे जो आपकी किस्मत की काया; मिले आप को वो सब अपनी ज़िन्दगी में, जो कभी किसी ने भी न पाया। इन्हीं शुभेच्छाओं के साथ आप सभी को सावन के सोमवार की इस मंगल वेला की हार्दिक शुभकामनाएं!

विश्व का कण कण शिव मय हो, अब हर शक्ति का अवतार उठे, जल थल और अम्बर से फिर, बम बम भोले की जय जयकार उठे…!! हर हर महादेव ॐ नमः शिवा।

शम्भुनाथ तेरे’ चरणों में जो थोड़ी सी जगह’ मिल जाती मेरे तड़पते’ मन को’ भी थोड़ी राहत हो जाती..!! हर हर महादेव, ॐ नमः शिवा।

मैं शिव हूँ मैं अंत हूँ आरम्भ हूँ मैं सृष्टि का प्रारम्भ हूँ मैं घोर हूँ अघोर हूँ व्योम का मैं शोर हूँ राम का हूँ शील मैं और रावण का दम्भ हूँ…!! हर हर महादेव।

भगवन शंकर के सिर में से गगांजी का पानी निकलता है। इसका मतलब है! हमारे मस्तिष्क में से, हमारे विचारों में से ज्ञान की गंगा – विचारधारा जो प्रवाहित होनी चाहिए, वह गंगा जैसी निर्मल होनी चाहिए।

इन्हें भी जरुर पढ़े - Jai Mahakal

Post a comment

0 Comments